You are currently viewing पेश है शायर मुनव्वर राणा साहेब खिदमत में उनकी ही शायरी।

मियां मैं शेर हूं, शेरो…

पेश है शायर मुनव्वर राणा साहेब खिदमत में उनकी ही शायरी। मियां मैं शेर हूं, शेरो…

पेश है शायर मुनव्वर राणा साहेब खिदमत में उनकी ही शायरी।

मियां मैं शेर हूं, शेरों की गुर्राहट नहीं जाती।

मैं लहज़ा नरम भी कर लूं तो झुझुलाहट नहीं जाती।
@ippatel https://t.co/3lGO84Hhim
पेश है शायर मुनव्वर राणा साहेब खिदमत में उनकी ही शायरी।

मियां मैं शेर हूं, शेरो…

पेश है शायर मुनव्वर राणा साहेब खिदमत में उनकी ही शायरी।

मियां मैं शेर हूं, शेरों की गुर्राहट नहीं जाती।

मैं लहज़ा नरम भी कर लूं तो झुझुलाहट नहीं जाती।
@ippatel https://t.co/3lGO84Hhim
#पश #ह #शयर #मनववर #रण #सहब #खदमत #म #उनक #ह #शयरमय #म #शर #ह #शर

Twitter shayarish by AMIT KUMAR PANDEY (उत्तर प्रदेश आजमगढ़)

Leave a Reply