पहले कुछ इस तरह आग लगी थी इश्क़ की की कितना भी पानी डालो बुझती नहीं थी अब इस तर…

[ad_1]

पहले कुछ इस तरह आग लगी थी इश्क़ की
की कितना भी पानी डालो बुझती नहीं थी
अब इस तरह दिल टूटा है
की कितना भी आग लगा लो
जलती ही नही कुछ
#दिल_टूटा_हैं
#इश्क़
#बज़्म
#शायरी
#शायरांश
#शायर
[ad_2]

Source by 𝐍𝐈𝐓𝐄𝐒𝐇 𝐒𝐈𝐍𝐆𝐇 ( नितेश सिंह )

Leave a Reply