निगाहों में रहेगी रोशनी रुख़्सार की ; ज़ुल्फ़ों के अंधेरों में अगर क़ैद भी कर लो…

[ad_1]

निगाहों में रहेगी रोशनी रुख़्सार की ;
ज़ुल्फ़ों के अंधेरों में अगर क़ैद भी कर लो।
-अज्ञात-
Glow of your face shall remain preserved within my eyes, even if you may cover it with your swirls.
#poetry #shayari #eyes #love #hindishayari #शायरी
[ad_2]

Source by thinkhike

Leave a Reply