ना शेर होगा ना शायरी होगी आज ना कोई मंदिर होगा ना जानकारी मन सोचकर बेचेन है कही…

[ad_1]

ना शेर होगा ना शायरी होगी आज
ना कोई मंदिर होगा ना जानकारी
मन सोचकर बेचेन है 😒😒
कहीं उसी रेत पर है सबके मकान ?
ॐ शांति 🙏💐 दुखद 😭
#रोहित_सरदाना
[ad_2]

Source by निलेश पटेल

Leave a Reply