ना मेरे लिये लिखते, ना इस जहाँ के लिये लिखते, ना मेरे लिये लिखते, ना इस जहाँ क…

[ad_1]

ना मेरे लिये लिखते,
ना इस जहाँ के लिये लिखते,
ना मेरे लिये लिखते,
ना इस जहाँ के लिये लिखते,
गालिब जिंदा होते,
तो तेरे लिये लिखते ❤️
#Shayar_Gazal
#गालिब
#शायरी
[ad_2]

Source by Abhishek Dhaware 🇮🇳

Leave a Reply