नही आता तेरी मोहब्बत को छिपाना मुझे ……. तेरी खुशबू मेरी हर शायरी मे बसा करती…

नही आता तेरी मोहब्बत को छिपाना मुझे …….
तेरी खुशबू मेरी हर शायरी मे बसा करती है …
नही आता तेरी मोहब्बत को छिपाना मुझे …….
तेरी खुशबू मेरी हर शायरी मे बसा करती…

नही आता तेरी मोहब्बत को छिपाना मुझे …….
तेरी खुशबू मेरी हर शायरी मे बसा करती है …
#नह #आत #तर #महबबत #क #छपन #मझ #तर #खशब #मर #हर #शयर #म #बस #करत

Twitter shayarish by Surbhi Gupta

Leave a Reply