You are currently viewing दीदार-ए-यार की ख़ातिर आँखों में ख्वाब ओढ़कर….??

चलें आये है नींद को हम करवटों…
-ए-यार-की-ख़ातिर-आँखों-में-ख्वाब-ओढ़कर-चलें-आये-है

दीदार-ए-यार की ख़ातिर आँखों में ख्वाब ओढ़कर….?? चलें आये है नींद को हम करवटों…

दीदार-ए-यार की ख़ातिर आँखों में ख्वाब ओढ़कर….??

चलें आये है नींद को हम करवटों में छोड़कर ..!!😊।

फोटो के एक्सप्रेशन के हिसाब से शायरी अच्छी लिखी हूं https://t.co/J99vY6cy2I
दीदार-ए-यार की ख़ातिर आँखों में ख्वाब ओढ़कर….??

चलें आये है नींद को हम करवटों…

दीदार-ए-यार की ख़ातिर आँखों में ख्वाब ओढ़कर….??

चलें आये है नींद को हम करवटों में छोड़कर ..!!😊।

फोटो के एक्सप्रेशन के हिसाब से शायरी अच्छी लिखी हूं https://t.co/J99vY6cy2I
#ददरएयर #क #खतर #आख #म #खवब #ओढकरचल #आय #ह #नद #क #हम #करवट

Twitter shayarish by Syed Rukhsar 🥳

Leave a Reply