दिल के जख्मों को शायरी में पिरोना कोई बुरी बात नहीं बुरी बात तो यही है जब कोई अप…

[ad_1]

दिल के जख्मों को शायरी में पिरोना कोई बुरी बात नहीं बुरी बात तो यही है जब कोई अपना वह वह करे
[ad_2]

Source by Neeर

Leave a Reply