तुम कभी कभी यूँ किया करो, छोडो मेरी शायरी.. दिल पढ लिया करो!…

[ad_1]

तुम कभी कभी यूँ किया करो,
छोडो मेरी शायरी..
दिल पढ लिया करो!
[ad_2]

Source by ◖⚆ᴥ⚆◗

Leave a Reply