जुल्म के खिलाफ खुल के बोलना सीखे अब वक्त न ही बैलेंस बनाने का है न ही शायरी लिखन…

जुल्म के खिलाफ खुल के बोलना सीखे अब वक्त न ही बैलेंस बनाने का है न ही शायरी लिखने का अगर अपनी कौम अपने कौम के लोगो से मोहब्बत है तो उसके साथ हो रहे सियासत का पर्दा फास करिए आप खुद देख सकती है आसिफ के लिए ट्रेंड में कोई हिन्दी नाम वाला आवाज नही उठा रहा। https://t.co/o8ePkJ6Zs3
जुल्म के खिलाफ खुल के बोलना सीखे अब वक्त न ही बैलेंस बनाने का है न ही शायरी लिखन…

जुल्म के खिलाफ खुल के बोलना सीखे अब वक्त न ही बैलेंस बनाने का है न ही शायरी लिखने का अगर अपनी कौम अपने कौम के लोगो से मोहब्बत है तो उसके साथ हो रहे सियासत का पर्दा फास करिए आप खुद देख सकती है आसिफ के लिए ट्रेंड में कोई हिन्दी नाम वाला आवाज नही उठा रहा। https://t.co/o8ePkJ6Zs3
#जलम #क #खलफ #खल #क #बलन #सख #अब #वकत #न #ह #बलस #बनन #क #ह #न #ह #शयर #लखन

Twitter shayarish by 🅱̷B̷e̷i̷n̷g̷_🅰̷B̷o̷Y̷🌱

Leave a Reply