जिस सफर में रखा था कंधे पर सर वो उसे याद नही , हाथ पकड़ घुमा था जिसका मैं किसी औ…

जिस सफर में रखा था कंधे पर सर वो उसे याद नही ,
हाथ पकड़ घुमा था जिसका मैं किसी और में वो बात नहीं ,
बाल सहलाती है हररोज वो अपने पर उनमें मेरा हाथ नही,
चाहता हूं किसी को खुद से ज्यादा पर वो मेरे साथ नहीं।
#shayri
#शायरी
#लव
#love
#Trending
जिस सफर में रखा था कंधे पर सर वो उसे याद नही ,
हाथ पकड़ घुमा था जिसका मैं किसी औ…

जिस सफर में रखा था कंधे पर सर वो उसे याद नही ,
हाथ पकड़ घुमा था जिसका मैं किसी और में वो बात नहीं ,
बाल सहलाती है हररोज वो अपने पर उनमें मेरा हाथ नही,
चाहता हूं किसी को खुद से ज्यादा पर वो मेरे साथ नहीं।
#shayri
#शायरी
#लव
#love
#Trending
#जस #सफर #म #रख #थ #कध #पर #सर #व #उस #यद #नह #हथ #पकड #घम #थ #जसक #म #कस #औ

Twitter shayarish by Arpit_Vishnoi

Leave a Reply