You are currently viewing जिस्म से जान तक पास आते गये
इन निग़ाहों से दिल में समाते गये
जिस हसीं ख़्वाब की …
-से-जान-तक-पास-आते-गये-इन-निग़ाहों-से

जिस्म से जान तक पास आते गये इन निग़ाहों से दिल में समाते गये जिस हसीं ख़्वाब की …

[ad_1]

जिस्म से जान तक पास आते गये
इन निग़ाहों से दिल में समाते गये
जिस हसीं ख़्वाब की थी तमन्ना मुझे
हाँ वही बन गये हो तुम
ज़िन्दगी बन गये.

हर किसी से जिसे मैं छुपाती रही
बेख़ुदी में जिसे गुनगुनाती रही
मैंने तन्हाँ कभी जो लिखी थी वही
शायरी बन गए हो तुम
ज़िन्दगी बन गये.#JenniferWinget https://t.co/A10IpZwrSk
[ad_2]

Source by Rockey⁷🇮🇳

Leave a Reply