जामा-ए-फक्र ओढे हुए पूरी दोशीज़ा लगती हो, पैरों में घुंघरुओं की खन-खन सकून-ए-ख…

जामा-ए-फक्र ओढे हुए
पूरी दोशीज़ा लगती हो,

पैरों में घुंघरुओं की खन-खन
सकून-ए-खलब्त करा देती हो,

अश्क़-ए-खूं में डुबोए हुए
माशूक को तरसाती हो,

एक जलजला #बज़्म में पैदा कर देती हो।।
✍️✍️Ranjeet

#शायरांश #शायरी #बज़्म #हिंदी_शब्द #सरस
जामा-ए-फक्र ओढे हुए
पूरी दोशीज़ा लगती हो,

पैरों में घुंघरुओं की खन-खन
सकून-ए-ख…

जामा-ए-फक्र ओढे हुए
पूरी दोशीज़ा लगती हो,

पैरों में घुंघरुओं की खन-खन
सकून-ए-खलब्त करा देती हो,

अश्क़-ए-खूं में डुबोए हुए
माशूक को तरसाती हो,

एक जलजला #बज़्म में पैदा कर देती हो।।
✍️✍️Ranjeet

#शायरांश #शायरी #बज़्म #हिंदी_शब्द #सरस
#जमएफकर #ओढ #हए #पर #दशज #लगत #हपर #म #घघरओ #क #खनखनसकनएख

Twitter shayarish by Ranjeet