You are currently viewing जाने क्यों भागता है ये मन अतीत के बीहड़ में.. काश कुछ यूं होता कि जो बीत चुका है
-क्यों-भागता-है-ये-मन-अतीत-के-बीहड़-में

जाने क्यों भागता है ये मन अतीत के बीहड़ में.. काश कुछ यूं होता कि जो बीत चुका है

जाने क्यों भागता है ये मन अतीत के बीहड़ में.. काश कुछ यूं होता कि जो बीत चुका है वो गुजर भी जाता. ना कोई याद कचोटती ना कोई पछतावा जलाता, ना कोई याद करता…ना कोई याद आता!
https://t.co/LsAS1DxNrM

#बज्म #alfazmere #shayari
#Good_morning
जाने क्यों भागता है ये मन अतीत के बीहड़ में.. काश कुछ यूं होता कि जो बीत चुका है

जाने क्यों भागता है ये मन अतीत के बीहड़ में.. काश कुछ यूं होता कि जो बीत चुका है वो गुजर भी जाता. ना कोई याद कचोटती ना कोई पछतावा जलाता, ना कोई याद करता…ना कोई याद आता!
https://t.co/LsAS1DxNrM

#बज्म #alfazmere #shayari
#Good_morning
#जन #कय #भगत #ह #य #मन #अतत #क #बहड #म #कश #कछ #य #हत #क #ज #बत #चक #ह

Twitter shayarish by Puja kumari

Leave a Reply