ज़रूरी तो नहीं के शायरी वो ही करे जो इश्क में हो,,, ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिस…

[ad_1]

ज़रूरी तो नहीं के शायरी वो ही करे जो इश्क में हो,,,

ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दिया करती है….!!!!!
#शुभ_शनिवार
#हर__हर_महादेव
[ad_2]

Source by राजन राजपूत

Leave a Reply