You are currently viewing चलो कुछ दिलोंं के जज़्बात लिखते हैं।
जो तुम कहते नहीं वही बात लिखते हैं।
मिलना ब…
-कुछ-दिलोंं-के-जज़्बात-लिखते-हैं।-जो-तुम-कहते

चलो कुछ दिलोंं के जज़्बात लिखते हैं। जो तुम कहते नहीं वही बात लिखते हैं। मिलना ब…

[ad_1]

चलो कुछ दिलोंं के जज़्बात लिखते हैं।
जो तुम कहते नहीं वही बात लिखते हैं।
मिलना बिछड़ना सब भगवान के हाथ ।
चलो ये मुकम्मल आखरी रात लिखते हैं।
#सूर्या_शायरी
#बे_करा़र
#हिंदी_शब्द
#बज़्म https://t.co/9FdQodVQ5r
[ad_2]

Source by ☀️सूर्यप्रताप सिंह चौहान☀️

Leave a Reply