गर ज़माना बुरा न होता तो मेरी भी मोहब्बत कामयाब होती पर जब रास्ते पर ही पत्थर मि…

गर ज़माना बुरा न होता तो मेरी भी मोहब्बत कामयाब होती
पर जब रास्ते पर ही पत्थर मिले तो फिर जिंदगी कैसे गुलाब होती

30 मिनट शायरी करनी है मेरे को है कोई?
गर ज़माना बुरा न होता तो मेरी भी मोहब्बत कामयाब होती
पर जब रास्ते पर ही पत्थर मि…

गर ज़माना बुरा न होता तो मेरी भी मोहब्बत कामयाब होती
पर जब रास्ते पर ही पत्थर मिले तो फिर जिंदगी कैसे गुलाब होती

30 मिनट शायरी करनी है मेरे को है कोई?
#गर #जमन #बर #न #हत #त #मर #भ #महबबत #कमयब #हतपर #जब #रसत #पर #ह #पतथर #म

Twitter shayarish by ÕyÊ PÃGÃL🥴

Leave a Reply