ख्वाहिश ख्वाहिश ना रही अल्फाज बन गई है अब ,,?? दर्द शिद्दत की होती है मैं फिर भ…

[ad_1]

ख्वाहिश ख्वाहिश ना रही अल्फाज बन गई है अब ,,??

दर्द शिद्दत की होती है मैं फिर भी शायरी नहीं लिखती ,,!!

@MohdAzi79301643 follow
[ad_2]

Source by Syed R𝙪𝙠𝙝𝙨𝙖𝙧 🥳

Leave a Reply