क्या हमें लोककप्रियता नहीं मिलने से ट्वीटर छोड़ देना चाहिए,हमारी समसामायिक कविता…

क्या हमें लोककप्रियता नहीं मिलने से ट्वीटर छोड़ देना चाहिए,हमारी समसामायिक कविताएं,लेख सम्भवतः लोगों को नहीं भाते हैं।छिछोरी बातें ,अश्लील फोटो,बेतुकी शायरी को भी यहाँ हज़ारों लाइक मिलते हैं हमें मात्र 2 -4।।
@peeku79 @shalinidubey028 @MeMadhu15 @Pradeep18490949 @SangitaSaras15
क्या हमें लोककप्रियता नहीं मिलने से ट्वीटर छोड़ देना चाहिए,हमारी समसामायिक कविता…

क्या हमें लोककप्रियता नहीं मिलने से ट्वीटर छोड़ देना चाहिए,हमारी समसामायिक कविताएं,लेख सम्भवतः लोगों को नहीं भाते हैं।छिछोरी बातें ,अश्लील फोटो,बेतुकी शायरी को भी यहाँ हज़ारों लाइक मिलते हैं हमें मात्र 2 -4।।
@peeku79 @shalinidubey028 @MeMadhu15 @Pradeep18490949 @SangitaSaras15
#कय #हम #लककपरयत #नह #मलन #स #टवटर #छड #दन #चहएहमर #समसमयक #कवत

Twitter shayarish by शरद द्विवेदी

Leave a Reply