||क्या खूब लिहाज रखा है हम दोनों ने मुहब्बत का. जब भी बात करनी हो तो शायरी शायर…

[ad_1]

||🍁क्या खूब लिहाज रखा है हम दोनों ने मुहब्बत का.

जब भी बात करनी हो तो शायरी शायरी खेलते हैं.🍁.||
[ad_2]

Source by 🍁ज़िंदगी_गुलजार_है 🍁

Leave a Reply