कोई नहीं फँसाता ये विद्रोहिणी अमर्यादित लड़कियाँ स्वयं फँसती हैं उन्हें लव मेर…

  • Post category:Best-Shayari

कोई नहीं फँसाता ये विद्रोहिणी अमर्यादित लड़कियाँ स्वयं फँसती हैं उन्हें लव मेरिज एक थ्रिल की तरह लगती है उर्दू की मादक शेरो शायरी लुभाती है छिलका रहित फल रुचिकर प्रतीत होता है उन्हें बातूनी घुमाने फिराने वाले ही प्रियकर हैं यह समाज का कटु सत्य है I https://t.co/gx1dmMhJoZ
कोई नहीं फँसाता ये विद्रोहिणी अमर्यादित लड़कियाँ स्वयं फँसती हैं उन्हें लव मेर…

कोई नहीं फँसाता ये विद्रोहिणी अमर्यादित लड़कियाँ स्वयं फँसती हैं उन्हें लव मेरिज एक थ्रिल की तरह लगती है उर्दू की मादक शेरो शायरी लुभाती है छिलका रहित फल रुचिकर प्रतीत होता है उन्हें बातूनी घुमाने फिराने वाले ही प्रियकर हैं यह समाज का कटु सत्य है I https://t.co/gx1dmMhJoZ
#कई #नह #फसत #य #वदरहण #अमरयदत #लडकय #सवय #फसत #ह #उनह #लव #मर

Twitter shayarish by Shiv Kumar Vyas शिवकुमार व्यास (भारद्वाज)–वा. यजु.