किसी से रूठों तो संभलकर रूठना आज कल मनाने का नही, छोड़ देने का रिवाज है। #शायर…

[ad_1]

किसी से रूठों तो संभलकर रूठना
आज कल मनाने का नही,
छोड़ देने का रिवाज है। 💔

#शायरी #shayri #vankarsaheb #vankar_saheb #bichchhugang #maruvanzar #gulzar #quotes/">quotes
[ad_2]

Source by Bhavik Vankar 🍁

Leave a Reply