You are currently viewing कियूं यकायक कोशिश करते हो जालिम घोंसलों में जाने की,
पक्षियों ने भी घर बसाना है …
-यकायक-कोशिश-करते-हो-जालिम-घोंसलों-में-जाने-की

कियूं यकायक कोशिश करते हो जालिम घोंसलों में जाने की, पक्षियों ने भी घर बसाना है …

कियूं यकायक कोशिश करते हो जालिम घोंसलों में जाने की,
पक्षियों ने भी घर बसाना है जहान में रहने के लिए।।
#शायरांश #शायरी #बज़्म #हिंदी_शब्द #सरस #Poetry_Planet Ranjeet ✍️✍️ https://t.co/hB5FY9bsIk
कियूं यकायक कोशिश करते हो जालिम घोंसलों में जाने की,
पक्षियों ने भी घर बसाना है …

कियूं यकायक कोशिश करते हो जालिम घोंसलों में जाने की,
पक्षियों ने भी घर बसाना है जहान में रहने के लिए।।
#शायरांश #शायरी #बज़्म #हिंदी_शब्द #सरस #Poetry_Planet Ranjeet ✍️✍️ https://t.co/hB5FY9bsIk
#कय #यकयक #कशश #करत #ह #जलम #घसल #म #जन #कपकषय #न #भ #घर #बसन #ह

Twitter shayarish by Ranjeet