You are currently viewing कल मेरी थी आज किसी और की…,
काश तेरी मोहब्बत यू खुदगरज ना होती…,
मैं इतना बरब…

कल मेरी थी आज किसी और की…, काश तेरी मोहब्बत यू खुदगरज ना होती…, मैं इतना बरब…

कल मेरी थी आज किसी और की…,
काश तेरी मोहब्बत यू खुदगरज ना होती…,
मैं इतना बरबाद ना होता अगर तू इतनी बेदर्द ना होती…!!!

✍🏻 @mohit143rao

#हिंदी_शब्द #हिंदी #ग़जल #अल्फाज #शब्द #FridayMotivation #MotivationalQuotes #shyari #शायरी #twitterindia #NaturePhotography #nature https://t.co/tEl22rWwwX
कल मेरी थी आज किसी और की…,
काश तेरी मोहब्बत यू खुदगरज ना होती…,
मैं इतना बरब…

कल मेरी थी आज किसी और की…,
काश तेरी मोहब्बत यू खुदगरज ना होती…,
मैं इतना बरबाद ना होता अगर तू इतनी बेदर्द ना होती…!!!

✍🏻 @mohit143rao

#हिंदी_शब्द #हिंदी #ग़जल #अल्फाज #शब्द #FridayMotivation #MotivationalQuotes #shyari #शायरी #twitterindia #NaturePhotography #nature https://t.co/tEl22rWwwX
#कल #मर #थ #आज #कस #और #ककश #तर #महबबत #य #खदगरज #न #हतम #इतन #बरब

Twitter shayarish by Mohit Yadav

Leave a Reply