You are currently viewing कमबख़्त दिल भी क्या चीज़ है 
जो मचलता हुआ ही अच्छा लगता है..

उसका ठहरना ग़ज़ब…..
-दिल-भी-क्या-चीज़-है-जो-मचलता-हुआ-ही

कमबख़्त दिल भी क्या चीज़ है जो मचलता हुआ ही अच्छा लगता है.. उसका ठहरना ग़ज़ब…..

[ad_1]

कमबख़्त दिल भी क्या चीज़ है
जो मचलता हुआ ही अच्छा लगता है..

उसका ठहरना ग़ज़ब…
#राहत इंदौरी साहब की शायरी फिसलती नहीं
सीधे किल के तरह ठूक जाती… https://t.co/G4kJ58gwvJ
[ad_2]

Source by ZaLiM BaDsaH

Leave a Reply