You are currently viewing एक ऐसा शहर बनाने की जुस्तजू है मुझे, 

जहाँ पे लोगों का मक़सद फ़क़त मोहब्बत हो।
…
एक-ऐसा-शहर-बनाने-की-जुस्तजू-है-मुझे-जहाँ-पे

एक ऐसा शहर बनाने की जुस्तजू है मुझे, जहाँ पे लोगों का मक़सद फ़क़त मोहब्बत हो। …

एक ऐसा शहर बनाने की जुस्तजू है मुझे,

जहाँ पे लोगों का मक़सद फ़क़त मोहब्बत हो।

#शायरी
@DrShaabz
@Irfana49673856 https://t.co/Mt6ZIjefkx
एक ऐसा शहर बनाने की जुस्तजू है मुझे,

जहाँ पे लोगों का मक़सद फ़क़त मोहब्बत हो।

एक ऐसा शहर बनाने की जुस्तजू है मुझे,

जहाँ पे लोगों का मक़सद फ़क़त मोहब्बत हो।

#शायरी
@DrShaabz
@Irfana49673856 https://t.co/Mt6ZIjefkx
#एक #ऐस #शहर #बनन #क #जसतज #ह #मझ #जह #प #लग #क #मकसद #फकत #महबबत #ह

Twitter shayarish by Masihul Khan 🇵🇸

Leave a Reply