उनकी दहलीज पर बढ़ाकर कदम वापस खींच लेना भी मोहब्बत है, सब कुछ कह देना नहीं कभी-क…

उनकी दहलीज पर बढ़ाकर कदम वापस खींच लेना भी मोहब्बत है,
सब कुछ कह देना नहीं कभी-कभी चुप रहना भी मोहब्बत है,
लोग कहते हैं दुनिया जला देंगे हम अपनी मोहब्बत में,
अरे उनकी मुस्कुराहट के लिए खुद को जला लेना भी मोहब्बत है।।
#शायरी
उनकी दहलीज पर बढ़ाकर कदम वापस खींच लेना भी मोहब्बत है,
सब कुछ कह देना नहीं कभी-क…

उनकी दहलीज पर बढ़ाकर कदम वापस खींच लेना भी मोहब्बत है,
सब कुछ कह देना नहीं कभी-कभी चुप रहना भी मोहब्बत है,
लोग कहते हैं दुनिया जला देंगे हम अपनी मोहब्बत में,
अरे उनकी मुस्कुराहट के लिए खुद को जला लेना भी मोहब्बत है।।
#शायरी
#उनक #दहलज #पर #बढकर #कदम #वपस #खच #लन #भ #महबबत #हसब #कछ #कह #दन #नह #कभक

Twitter shayarish by Avinash Sachidanand