उनकी ख़ैरो-ख़बर नहीं मिलती हमको ही ख़ासकर नहीं मिलती शायरी को नज़र नहीं मिलती म…

[ad_1]

उनकी ख़ैरो-ख़बर नहीं मिलती
हमको ही ख़ासकर नहीं मिलती

शायरी को नज़र नहीं मिलती
मुझको तू ही अगर नहीं मिलती…✍️

@rehana_sultana1 @SaniyaKhan_TMC @HayaKhan999 @Ishu_ansari_1_4 @Aaliyaparven @seemaBano19 @BegomSahanara @Shabana26560119 @HumaNaa53714775 @Salmairam @Mussu1232
[ad_2]

Source by आज़ाद अब्दुलहमीद 💖 آزاد عبدالحمید

Leave a Reply