You are currently viewing इस पार नहीं,
तुम्हारे साथ…
उस पार जाना चाहता हूं,
सुनो !
मैं ये कदम,
फिर से बढ…

इस पार नहीं, तुम्हारे साथ… उस पार जाना चाहता हूं, सुनो ! मैं ये कदम, फिर से बढ…

इस पार नहीं,
तुम्हारे साथ…
उस पार जाना चाहता हूं,
सुनो !
मैं ये कदम,
फिर से बढ़ाना चाहता हूं।

~ नितिन कुमार हरित : #NitinKrHarit

#बज़्म #हिंदी_शब्द #काव्य_कृति #शायरांश #hindipoetry #शायरी #lifepoetry #hindipoem #Shorts #Reels #LovePoetry #loveislove https://t.co/DJ3E8qK3GJ

इस पार नहीं,
तुम्हारे साथ…
उस पार जाना चाहता हूं,
सुनो !
मैं ये कदम,
फिर से बढ…

इस पार नहीं,
तुम्हारे साथ…
उस पार जाना चाहता हूं,
सुनो !
मैं ये कदम,
फिर से बढ़ाना चाहता हूं।

~ नितिन कुमार हरित : #NitinKrHarit

#बज़्म #हिंदी_शब्द #काव्य_कृति #शायरांश #hindipoetry #शायरी #lifepoetry #hindipoem #Shorts #Reels #LovePoetry #loveislove https://t.co/DJ3E8qK3GJ

#इस #पर #नहतमहर #सथउस #पर #जन #चहत #हसन #म #य #कदमफर #स #बढ

Twitter shayarish by नितिन कुमार ‘हरित’

Leave a Reply