इसे आजकल शायरी के अलावा कुछ सूझता ही नही ।सावन का अंधा चहुओर हरियाली देखता है …

[ad_1]

इसे आजकल शायरी के अलावा कुछ सूझता ही नही ।सावन का अंधा चहुओर हरियाली देखता है https://t.co/ZeTVDJ5SWB
[ad_2]

Source by मेरा भारत महान

Leave a Reply