इश्क़ की शायरी लिखना हमें भी आता है, लेकिन समय अभी देश, धर्म, राष्ट्र और संस्कृत…

[ad_1]

इश्क़ की शायरी लिखना हमें भी आता है, लेकिन समय अभी देश, धर्म, राष्ट्र और संस्कृति को बचाने का है
🙏 जय जय श्री राम 🙏
🙏🙏वन्दे मातरम् 🙏🙏,🚩🇮🇳
[ad_2]

Source by 🚩Savla prajapati💞

Leave a Reply