इन हवाओमे खुशबू महक रही हैं| तेरी आँखो की नमी दहेक रही हैं|| कभी कभी लगता हैं…

इन हवाओमे खुशबू महक रही हैं|
तेरी आँखो की नमी दहेक रही हैं||
कभी कभी लगता हैं; छु लू तेरे उन ओठो को|
जो पंकुडियोसा! थर थराती है||
#शायरी #शायर #मोहब्बत #इश्क़ #दर्द
इन हवाओमे खुशबू महक रही हैं|
तेरी आँखो की नमी दहेक रही हैं||
कभी कभी लगता हैं…

इन हवाओमे खुशबू महक रही हैं|
तेरी आँखो की नमी दहेक रही हैं||
कभी कभी लगता हैं; छु लू तेरे उन ओठो को|
जो पंकुडियोसा! थर थराती है||
#शायरी #शायर #मोहब्बत #इश्क़ #दर्द
#इन #हवओम #खशब #महक #रह #हतर #आख #क #नम #दहक #रह #ह #कभ #कभ #लगत #ह

Twitter shayarish by vikram kumar

Leave a Reply