आखिर कहाँ जाए हम आपके दायरे से बाहर खुद को बड़ा महफूज पा…

[ad_1]

आखिर कहाँ जाए हम
आपके दायरे से बाहर
खुद को बड़ा महफूज पाया
आपकी पनाहों में…!!!
#संकार #बज्म #शायरी
[ad_2]

Source by 𝓥𝓲𝓳𝓪𝔂 𝓓𝓲𝓿𝓪𝓴𝓪𝓻

Leave a Reply