अपनी अधूरी हसरतों को मैंने गिनना शुरू कर दिया… जब भीड़ में दम घुटने लगा तो

[ad_1]

अपनी अधूरी हसरतों को मैंने
गिनना शुरू कर दिया…
जब भीड़ में दम घुटने लगा
तो अकेले रहना शुरू कर दिया..!!
[ad_2]

Source by @_balram_sharma_

Leave a Reply