O Hansini Lyrics-Kishore Kumar, Zahreela Insaan

Title- ओ हंसिनी
Movie/Album- ज़हरीला इंसान Lyrics-1974
Music By- आर.डी.बर्मन
Lyrics- मजरूह सुल्तानपुरी
Singer(s)- किशोर कुमार

ओ हंसिनी मेरी हंसिनी, कहाँ उड़ चली
मेरे अरमानों के पंख लगा के, कहाँ उड़ चली

आजा मेरी सांसो में महक रहा रे तेरा गजरा
आजा मेरी रातों में लहक रहा रे तेरा कजरा
ओ हंसीनी….

देर से लहरों में कमल संभाले हुए मन का
जीवन ताल में भटक रहा रे तेरा हंसा
ओ हंसीनी…

Leave a Reply