Mohabbat Ki Lyrics Himesh Reshammiya, Tulsi Kumar, Aksar

Title~ मोहब्बत की Lyrics
Movie/Album~ अक्सर Lyrics 2006
Music~ हिमेश रेशमिया
Lyrics~ समीर
Singer(s)~ हिमेश रेशमिया, तुलसी कुमार

अक्सर दिल तुझे याद करता है
अक्सर दिल तुझे, याद करता है यार
मेरे प्यार की आज़माइश हो रही है
मोहब्बत की गुज़ारिश हो रही है
मोहब्बत की गुज़ारिश हो रही है
तुम्हें पाने की कोशिश हो रही है
जनाब-ए-जानिया, जनाब-ए-जानिया
जनाब-ए-जानिया, जनाब-ए-जानिया
जनाब-ए-जानिया..

मोहब्बत की गुज़ारिश…

तमन्नाओं की सिफ़ारिश हो रही है
तुम्हें पाने की कोशिश हो रही है
जनाब-ए-जानिया…

तू ही मेरी चाहत की मंज़िल है
तू ही तन्हाई की महफ़िल है
तू ही धड़कन की ज़रूरत है
तू ही मेरी साँसों की फब्बत है
आँखों में तेरा इश्क़ छाया
ज़रा सा मुझे चैन आया
खयालों की नुमाइश हो रही है
तुम्हें पाने की कोशिश…

तू ही मेरी यादों का आलम है
तू ही मेरे वादों का मौसम है
तू ही ज़िंदगानी की सरगम है
तू ही मेरी ख़्वाहिश में हरदम है
तुम्हीं से मैंने दिल लगाया
तुम्हें ना इक पल भुलाया
मेरे जज़्बों की बारिश हो रही है
तुम्हें पाने की कोशिश…

Leave a Reply