Jag Soona Soona Lyrics Richa Sharma, Rahat Fateh Ali Khan, Om Shanti Om

Title~ जग सूना सूना Lyrics
Movie/Album~ ॐ शांति ॐ Lyrics 2007
Music~ विशाल-शेखर
Lyrics~ कुमार
Singer(s)~ ऋचा शर्मा, राहत फतेह अली खान

मैं तो जिया, ना मरा
हाए वे दस मैं की करां

दिल जुड़े बिना ही टुट गए
हथ मिले बिना ही छुट गए
की लिखे ने लेख किस्मत ने
बार बार रोंड़ अखियाँ
तैनू जो ना वेख सकियाँ
खोले आए आज कुदरत ने
कट्टा मैं की वे दिन
तेरी सोंह तेरे बिन
मैं तो जिया ना मरा

छन से जो टूटे कोई सपना
जग सूना-सूना लागे
जग सूना-सूना लागे
कोई रहे ना जब अपना
जग सूना-सूना लागे
जग सूना-सूना है तो
ये क्यूँ होता है
जब ये दिल रोता है
रोए सिसक सिसक के हवाएँ
जग सूना लगे
छन से जो टूटे कोई सपना
जग सूना-सूना लागे
जग सूना-सूना लागे…

रूठी-रूठी, सारी रातें
फीके-फीके, सारे दिन
वीरानी सी वीरानी है
तन्हाई सी तन्हाई है
और इक हम हैं, प्यार के बिन
हर पल छिन
छन से जो टूटे कोई सपना…

पत्थरों की, इस नगरी में
पत्थर चेहरे, पत्थर दिल
फिरता है मारा-मारा
क्यूँ राहों में तू आवारा
यहाँ ना होगा, कुछ हासिल
मेरे दिल
छन से जो टूटे कोई सपना…

Leave a Reply