Gaa Raha Hoon Is Mehfil Mein Lyrics- Kumar Sanu, Dil Ka Kya Kasoor

Title ~ गा रहा हूँ इस महफ़िल में Lyrics
Movie/Album ~ दिल का क्या कसूर Lyrics- 1992
Music ~ नदीम श्रवण
Lyrics ~ अनवर सागर
Singer (s)~कुमार सानू

गा रहा हूँ इस महफ़िल में आपकी मोहब्बत है
आज हूँ मैं जो कुछ भी वो आपकी इनायत है
गा रहा हूँ…
ज़िन्दगी से कैसा शिकवा खुद से ही शिकायत है
आज हूँ मैं जो कुछ भी वो आपकी इनायत है
गा रहा हूँ…

प्यार की वो सौगातें किस तरह भुला दूँ मैं
आपका हर एक आँसूँ पलकों पे उठा लूँ मैं
आपके ही दम से तो ये आज मेरी शोहरत है
आज हूँ मैं जो कुछ…

कितने रंग है जीवन के ये अजब कहानी है
कुछ मिले तो कुछ खो जाये रीत ये पुरानी है
किसको क्या मिला यहाँ सब अपनी-अपनी किस्मत है
आज हूँ मैं जो कुछ…

काश फिर कोई नगमा इस फ़िज़ा में लहराये
दूर से सही लेकिन आपकी सदा आये
मेरे दिल की हर धड़कन अब आपकी अमानत है
आज हूँ मैं जो कुछ…

Leave a Reply