Aadam Gondavi ji All Poems, Poetry and kavita collections in Hindi | अदम गोंडवी

काजू भुने पलेट में, विस्की गिलास में-धरती की सतह पर अदम गोंडवी

ये महाभारत है जिसके पात्र सारे आ गए- धरती की सतह पर अदम गोंडवी

जिसके सम्मोहन में पाग़ल, धरती है, आकाश भी है- धरती की सतह पर अदम गोंडवी

ये दुखड़ा रो रहे थे आज पंडित जी शिवाले में- धरती की सतह पर अदम गोंडवी

हीरामन बेज़ार है उफ़्! किस कदर महँगाई से- धरती की सतह पर अदम गोंडवी

ये अमीरों से हमारी फ़ैसलाकुन जंग थी- धरती की सतह पर अदम गोंडवी

टी०वी० से अख़बार तक ग़र सेक्स की बौछार हो- धरती की सतह पर अदम गोंडवी

‘अदम’ सुकून में जब कायनात होती है- धरती की सतह पर अदम गोंडवी

ये समझते हैं, खिले हैं तो फिर बिखरना है- धरती की सतह पर अदम गोंडवी

जिस्म क्या है, रुह तक सब कुछ खुलासा देखिए– धरती की सतह पर अदम गोंडवी

मुक्तिकामी चेतना, अभ्यर्थना इतिहास की– धरती की सतह पर अदम गोंडवी

जो ‘डलहौजी’ न कर पाया वो ये हुक्काम कर देंगे– धरती की सतह पर अदम गोंडवी

घर में ठण्डे चूल्हे पर अगर ख़ाली पतीली है– धरती की सतह पर अदम गोंडवी

आँख पर पट्टी रहे और अक़्ल पर ताला रहे– धरती की सतह पर अदम गोंडवी

वेद में जिनका हवाला हाशिए पर भी नहीं– धरती की सतह पर अदम गोंडवी

ग़ज़ल को ले चलो अब गाँव के दिलकश नज़ारों में– धरती की सतह पर अदम गोंडवी

भूख के एहसास को शेरो-सुख़न तक ले चलो- धरती की सतह पर अदम गोंडवी

सौ में सत्तर आदमी फ़िलहाल जब नाशाद है- धरती की सतह पर अदम गोंडवी

जुल्फ – अंगडाई – तबस्सुम – चाँद – आईना -गुलाब- धरती की सतह पर अदम गोंडवी

जो उलझ कर रह गई फाइलों के जाल में- धरती की सतह पर अदम गोंडवी

उनका दावा, मुफ़लिसी का मोर्चा सर हो गया– धरती की सतह पर अदम गोंडवी

चाँद है ज़ेरे-क़दम. सूरज खिलौना हो गया– धरती की सतह पर अदम गोंडवी