सांवरा जब मेरे साथ है,

हमको डरने की क्या बात है । Bhajan Lyrics

सांवरा जब मेरे साथ है,
हमको डरने की क्या बात है ।
इसके रहते कोई कुछ कहे,
बोलो किसकी यह औकात है ॥

छाये काली घटाए तो क्या,
इसकी छतरी के नीचे हूँ मैं ।
आगे आगे यह चलता मेरे,
मेरे मालिक के ीछे हम मैं ।
इसने पकड़ा मेरा हाथ है,
मुझको डरने की क्या बात है ॥

इसकी महिमा का वर्णन करू,
मेरी वाणी में वो दम नहीं ।
जब से इसका सहारा मिला
फिर सताए कोई गम नहीं ।
बाबा करता करामत है
हमको डरने की क्या बात है ॥

क्यों मैं भटकू यहाँ से वहां
इसके चरणों में है बैठना ।
झूठे स्वार्थ के रिश्ते सभी,
कहना से है रिश्ता बना ।
ये करता मुलाकात है,
हमको डरने की क्या बात है ॥

जहां आनद की लगती झड़ी,
ऐसी महफ़िल सजता है ये ।
‘बिन्नू’ क्यों ना दीवाना बने,
ऐसे जलवे दिखता है ये ।
दिल चुराने में विख्यात है,

Watch Bhajan Music video

sanwara jab mere sath hai mujhko darne ki kya baat hai Bhajan Lyrics

saanvara jab mere saath hai,
hamako darane ki kya baat hai
isake rahate koi kuchh kahe,
bolo kisaki yah aukaat hai ..

chhaaye kaali ghataae to kya,
isaki chhatari ke neeche hoon main
aage aage yah chalata mere,
mere maalik ke peechhe ham main
isane pakada mera haath hai,
mujhako darane ki kya baat hai ..

isaki mahima ka varnan karoo,
meri vaani me vo dam nahi
jab se isaka sahaara milaa
phir sataae koi gam nahi
baaba karata karamt hai
hamako darane ki kya baat hai ..

kyon mainbhatakoo yahaan se vahaan
isake charanon me hai baithanaa
jhoothe svaarth ke rishte sbhi,
kahana se hai rishta banaa
ye karata mulaakaat hai,
hamako darane ki kya baat hai ..

jahaan aanad ki lagati jhadi,
aisi mahapahil sajata hai ye
‘binnoo’ kyon na deevaana bane,
aise jalave dikhata hai ye
dil churaane me vikhyaat hai,
hamako darane ki kya baat hai ..

saanvara jab mere saath hai,
hamako darane ki kya baat hai
isake rahate koi kuchh kahe,
bolo kisaki yah aukaat hai ..

Leave a Comment