राम का दरबार, मन की शांति का द्वार,

ॐ शन्ति, मन की शान्ति, तन की शान्ति, Bhajan Lyrics

राम का दरबार, मन की शांति का द्वार,
ॐ शन्ति, मन की शान्ति, तन की शान्ति,
क्रोध शान्ति,
जब सब शांति, तव राम करे उद्धार…

जब मन शून्य में चला जाता हैं,
तव आत्मा और मन, परम् सुख ाता है,
आत्मा परमात्मा है, राम की अवतार…

जब राममय हो तन मन धन,
मोह माया छोड़कर, सब कुछ हो अर्पण,
तव जाकर प्रभु राम, करते भक्ति स्वीकार…

राम का दरबार, मन की शांति का द्वार,
ॐ शन्ति, मन की शान्ति, तन की शान्ति,
क्रोध शान्ति,
जब सब शांति, तव राम करे उद्धार…

Watch Bhajan Music video

ram ka darabaar, man ki shaanti ka dvaar,

om shanti, man ki shaanti, tan ki shaanti, Bhajan Lyrics

ram ka darabaar, man ki shaanti ka dvaar,
om shanti, man ki shaanti, tan ki shaanti,
krodh shaanti,
jab sab shaanti, tav ram kare uddhaar…

jab man shoony me chala jaata hain,
tav aatma aur man, param sukh paata hai,
aatma paramaatma hai, ram ki avataar…

jab rammay ho tan man dhan,
moh maaya chhodakar, sab kuchh ho arpan,
tav jaakar prbhu ram, karate bhakti sveekaar…

ram ka darabaar, man ki shaanti ka dvaar,
om shanti, man ki shaanti, tan ki shaanti,
krodh shaanti,
jab sab shaanti, tav ram kare uddhaar…

Leave a Comment