पीले पीले यह रास मीठा है राम का,

जो रस पीने से जुबा पे नाम हो घनश्याम का । Bhajan Lyrics

ीले पीले यह रास मीठा है राम का,
जो रस पीने से जुबा पे नाम हो घनश्याम का ।
तू पी तेरी दुनिया लुटा के पी, मस्ती में आके पी,
इस से जयादा शौंक है तो गुरु के शरण में जा के पी ।
तेरा जब निकल जायेगा जी तो फिर कौन कहेगा पी ॥

मुझे मेरी मस्ती कहाँ ले के आई,
जहाँ मेरे अपने सिवा कुछ नहीं है

पता जब लगा मेरी हस्ती का मुझको,
सिवा मेरे अपने कहीं कुछ नही है ।
मुझे मेरी मस्ती कहाँ ले के आई…

सभी में सभी में फकत मैं ही मैं हूँ,
सिवा मेरे अपने कहीं कुछ नही है ।
मुझे मेरी मस्ती कहँ ले के आई…

ना दुःख है ना सुख है ना शोक है कुछ भी,
अजब है यह मस्ती पीया कुछ नहीं है
मुझे मेरी मस्ती कहँ ले के आई…

अरे मैं हूँ आनंद आनंद मेरा
मस्ती ही मस्ती और कुछ नहीं है
मुझे मेरी मस्ती कहँ ले के आई…

भ्रम है द्वन्द है जो तुमको हुआ है
हटाया जो उसको खदफा कुछ नहीं है

Watch Bhajan Music video

mujhe meri masti kahan le ke aayi jahan mere apne siva kuch nahi hai Bhajan Lyrics

peele peele yah raas meetha hai ram ka,
jo ras peene se juba pe naam ho ghanashyaam kaa
too pi teri duniya luta ke pi, masti me aake pi,
is se jayaada shaunk hai to guru ke sharan me ja ke pee
tera jab nikal jaayega ji to phir kaun kahega pi ..

mujhe meri masti kahaan le ke aai,
jahaan mere apane siva kuchh nahi hai

pata jab laga meri hasti ka mujhako,
siva mere apane kaheen kuchh nahi hai
mujhe meri masti kahaan le ke aai…

sbhi me sbhi me phakat mainhi mainhoon,
siva mere apane kaheen kuchh nahi hai
mujhe meri masti kahan le ke aai…

na duhkh hai na sukh hai na shok hai kuchh bhi,
ajab hai yah masti peeya kuchh nahi hai
mujhe meri masti kahan le ke aai…

are mainhoon aanand aanand meraa
masti hi masti aur kuchh nahi hai
mujhe meri masti kahan le ke aai…

bhram hai dvand hai jo tumako hua hai
hataaya jo usako khadpha kuchh nahi hai
mujhe meri masti kahan le ke aai…

peele peele yah raas meetha hai ram ka,
jo ras peene se juba pe naam ho ghanashyaam kaa
too pi teri duniya luta ke pi, masti me aake pi,
is se jayaada shaunk hai to guru ke sharan me ja ke pee
tera jab nikal jaayega ji to phir kaun kahega pi ..

mujhe meri masti kahan le ke aayi jahan mere apne siva kuch nahi hai Lyrics

Leave a Comment