जय माँ, जय जय माँ

जय माँ, जय जय माँ Bhajan Lyrics

जय माँ, जय जय माँ
जय माँ, जय जय माँ

कौन कहता है माँ की ज्योत नहीं बोलती,
श्रद्धा से इसको बुलाने वाला चाहिए,
ज्योत से ज्योत को मिलाने वाला चाहिए ।

भावना से इसको ुकार तो देखिए,
अँखिओं के शीशे में उतार कर तो देखिए ।
सच्च की आवाज में आवाज यह मिलायेगी,
सोया जो तूं नींद में, है तुझ को जगाएगी ।
तेरा इसके चरणो में ध्यान भी तो चाहिए,
सुनने को ध्वनि शुभ कान भी तो चाहिए ।
श्रद्धा से इसको बुलाने वाला चाहिए,
ज्योत से ज्योत को मिलाने वाला चाहिए ॥

सच्ची ज्योत रीझती ना झूठ ना पाखंड से,
प्रेम से बुलाओ ना पुकारे रे घमंड से ।
इसे सरोकार नहीं जोर नहीं शोर से,
यह तो बंध जाती है रे आस्था की डोर से ।
बोले किस भाषा में, ज्ञान भी तो चाहिए,
आत्मा को इसकी पहचान भी तो चाहिए ।
श्रद्धा से इसको बुलाने वाला चाहिए,
ज्योत से ज्योत को मिलाने वाला चाहिए ॥

ज्योत में है माँ एहसास होगा जिसको,
समझेगा बोली विशवास होगा जिसको ।
पहले ज्योत अपने तराजू में है तोलती,
उतरे जो पूरे ज्योत उनके संग बोलती ।
निर्दोष भक्ति के तारे जरा जोड़िए,
बाकि क्या करना है उसपे ही छोड़िए ।
श्रद्धा से इसको बुलाने वाला चाहिए,

Watch Bhajan Music video

kaun kehta hai maa ki jyot nahi bolti by Narenda Chanchal Bhajan Lyrics

jay ma, jay jay maa

kaun kahata hai ma ki jyot nahi bolati,
shrddha se isako bulaane vaala chaahie,
jyot se jyot ko milaane vaala chaahie

bhaavana se isako pukaar to dekhie,
ankhion ke sheeshe me utaar kar to dekhie
sachch ki aavaaj me aavaaj yah milaayegi,
soya jo toon neend me, hai tujh ko jagaaegee
tera isake charano me dhayaan bhi to chaahie,
sunane ko dhavani shubh kaan bhi to chaahie
shrddha se isako bulaane vaala chaahie,
jyot se jyot ko milaane vaala chaahie ..

sachchi jyot reejhati na jhooth na paakhand se,
prem se bulaao na pukaare re ghamand se
ise sarokaar nahi jor nahi shor se,
yah to bandh jaati hai re aastha ki dor se
bole kis bhaasha me, gyaan bhi to chaahie,
aatma ko isaki pahchaan bhi to chaahie
shrddha se isako bulaane vaala chaahie,
jyot se jyot ko milaane vaala chaahie ..

jyot me hai ma ehasaas hoga jisako,
samjhega boli vishavaas hoga jisako
pahale jyot apane taraajoo me hai tolati,
utare jo poore jyot unake sang bolatee
nirdosh bhakti ke taare jara jodie,
baaki kya karana hai usape hi chhodie
shrddha se isako bulaane vaala chaahie,
jyot se jyot ko milaane vaala chaahie ..

jay ma, jay jay maa

kaun kehta hai maa ki jyot nahi bolti by Narenda Chanchal Lyrics

Leave a Comment